About Me

My photo
Greater Noida/ Sitapur, uttar pradesh, India
Editor "LAUHSTAMBH" Published form NCR.

हमारे मित्रगण

विजेट आपके ब्लॉग पर

Friday, July 29, 2011

(86) जिंदगी गम ही नहीं

जिंदगी गम ही नहीं, खुशनुमा एहसास भी है ,
ज़रा तलाश के देखो, वो आस-पास भी है.

ज़मीं की मुश्किलों में मुब्तिला क्योंकर रहना,
उड़ान भरने को सारा खुला आकाश भी है.

गम की गठरी को संजोने से दर्द होता है,
मगर उसी में कहीं पर छिपी मिठास भी है.

जिंदगी के ग़मों को ले के कहाँ तक रोयें, 
अँधेरा है कभी तो फिर कभी उजास भी है.   

ये नाचता है जहाँ , बस उसी की सरगम पे,
जिसमें है जूझने का जज्बा और आस भी है .

15 comments:

जाट देवता (संदीप पवाँर) said...

जिंदगी एक सफ़र है सुहाना
यहाँ कल क्या हो किसने जाना।

सागर said...

bhaut hi sunder....

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

गम की गठरी को संजोने से दर्द होता है,
मगर उसी में कहीं पर छिपी मिठास भी है.

जिंदगी के ग़मों को ले के कहाँ तक रोयें,
अँधेरा है कभी तो फिर कभी उजास भी है.

बहुत खूबसूरत गज़ल

S.N SHUKLA said...

संदीप पंवार जी ,
सागर जी,
संगीता स्वरुप जी

आप मित्रों का स्नेह साभार स्वीकार , धन्यवाद

Dr (Miss) Sharad Singh said...

बहुत खूब...लाजवाब ग़ज़ल...

प्रवीण पाण्डेय said...

इसी आस में जी लेते हैं,
पीड़ा का जल पी लेते हैं।

आशा said...

"जिंदगी के ग़मों को लेकर कहां तक रोएँ
अन्धेरा है कभी तो कभी उजास भी है "बहुत भावपूर्ण पंक्तियाँ |
बहुत अच्छी रचना के लिए बधाई
आशा

S.N SHUKLA said...

डॉक्टर शरद जी ,
प्रवीण पाण्डेय जी,
आशा जी

आप शुभचिंतकों का स्नेहाशीष मिला और प्रशंसा भी ,बहुत- बहुत आभार, धन्यवाद

रचना दीक्षित said...

एस.एन शुक्ल जी,माफ़ी चाहती हूँ ब्लॉग पर
बहुत देर से पहुँच रही हूँ वो भी पहली बार.किन्ही कारणों वश नेट से दूर थी पर अब नियमित हो जाउंगी.
आपकी गज़ल को दिल के बहुत करीब पाया अच्छा लगा.खूबसूरत और सार्थक पोस्ट
आभार

मनोज कुमार said...

सच है कि सामने खुला आकाश है बस हौसला और जज़्बा होना चाहिए।

S.N SHUKLA said...

Rachana ji,
Manoj ji

आप शुभचिंतकों का स्नेहाशीष मिला और प्रशंसा भी ,बहुत- बहुत आभार

Suresh Kumar said...

जिंदगी के ग़मों को ले के कहाँ तक रोयें,
अँधेरा है कभी तो फिर कभी उजास भी है....

atisundara bhawpurn rachanaa...
aabhar...

S.N SHUKLA said...

सुरेश कुमार जी
आप मेरे ब्लॉग पर आये, मेरे शब्दों को समर्थन दिया , बहुत- बहुत आभार , धन्यवाद

संजय भास्कर said...

बहुत सुन्दर भावाभिव्यक्ति जो मन को भिगो जाती है..आभार

Anonymous said...

Its not my first time to visit this web page, i am browsing
this web page dailly and obtain fastidious information from here everyday.


my website: agoda reviews