About Me

My photo
Greater Noida/ Sitapur, uttar pradesh, India
Editor "LAUHSTAMBH" Published form NCR.

हमारे मित्रगण

विजेट आपके ब्लॉग पर

Sunday, September 2, 2012

( 165 ) जीने का बहाना हो तुम

            जीने का बहाना हो तुम


जागती रातों में , सपनों का खजाना हो  तुम  /
कैसे बतलाएं , कि  जीने  का बहाना हो तुम  /

अब तो हर साँस में , धड़कन में तुम्हारी ही रिदम ,
तुम  मेरी  नज़्म , रुबाई  हो ,  तराना  हो  तुम  /

मेरे  गुलशन  में , खिलाये हैं  फूल तुमने ही ,
रंग- ओ - खुशबू से , सजाये हैं फूल तुमने ही ,

इस इनायत का , तहे दिल से हूँ मैं शुक्र -ए - गुज़ार ,
तुम  मेरी  जीश्त हो , जीनत  मेरी, ज़ाना  हो  तुम  /

तुमसे होती है शुरू दुनिया मेरी , तुम पे ख़तम ,
हमारे  वास्ते !  यह  सारा  ज़माना  हो  तुम  /

                                 - एस .एन .शुक्ल 

32 comments:

प्रवीण पाण्डेय said...

बहुत ही सुन्दर, कोमल और गहरी अभिव्यक्ति..

expression said...

बहुत सुन्दर...
रूमानियत के एहसासों से भरी गज़ल...

सादर
अनु

Rachana said...

jine ka bahan atum ho sunder bhav
badhai
rachana

dheerendra said...

तुमसे होती है शुरू दुनिया मेरी , तुम पे ख़तम
हमारे वास्ते ! यह सारा ज़माना हो तुम,,,,,

वाह,,,क्या बात है,,,,,
आपकी प्रस्तुति मुझे बहुत पसंद आई,,,
बहुत२ बधाई हो शुक्ल जी,,,,,,
RECENT POST-परिकल्पना सम्मान समारोह की झलकियाँ,

***Punam*** said...

बहुत सुन्दर...

Anupama Tripathi said...

sashakt sundar bhaav ...

Kalipad Prasad said...

priya ka ehsas ka rumani gajal.
bahut achha.
meri 2 naii rachna bhi padhne ki kast karen

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

खूबसूरत गज़ल

Meenakshi Mishra Tiwari said...

bahut khoob !!
regards

Ramakant Singh said...

BEAUTIFUL GAZAL. VERY NICE LINES WITH EMOTIONS AND FEELINGS.

mridula pradhan said...

badi pyari kavita....

shalini said...

प्यार की गहराई को उजागर करती एक खूबसूरत रचना.

संध्या शर्मा said...

बहुत खूबसूरत अहसास...

Kalipad Prasad said...

priya ka rumani ehsas.badhai

Madan Mohan Saxena said...

बेह्तरीन अभिव्यक्ति .आपका ब्लॉग देखा मैने और नमन है आपको
और बहुत ही सुन्दर शब्दों से सजाया गया है लिखते रहिये और कुछ अपने विचारो से हमें भी अवगत करवाते रहिये.

http://madan-saxena.blogspot.in/
http://mmsaxena.blogspot.in/
http://madanmohansaxena.blogspot.in/

Rewa said...

bahut khubsoorat rachna...

Rewa said...

bahut khubsurat rachna

Kumar Vishal said...

Ati sundar. बहुत पसंद आई आपकी रचना.

Kumar Vishal said...

Ati sundar ahsas.

रोली पाठक said...

प्यार की इन्तेहाँ ...कोमल अलफ़ाज़ और अहसास से भरपूर गज़ल....बेहतरीन |

S.N SHUKLA said...

Pravin pandey ji,
ANU JI,
rACHANA JI,

आप मित्रों से इसी स्नेह की हमेशा अपेक्षा रही है , आभारी हूँ .

S.N SHUKLA said...

dHEERENDRA JI,
Poonam ji,
Anupama Tripathi ji,
आपकी स्नेहिल शुभकामनाओं का बहुत - बहुत आभार.

S.N SHUKLA said...

Kalipad Prasad ji,

ब्लॉग पर आगमन और शुभकामनाओं का आभार.

S.N SHUKLA said...

Sangita ji,

स्नेह मिला , आभार आपके उत्साहवर्धन का.

S.N SHUKLA said...

Meenakshi ji,
Ramakant ji,

आपके ब्लॉग पर आगमन का आभार.

S.N SHUKLA said...

Mridula ji,
Shalini ji,
Sandhya ji,
स्नेहिल शुभकामनाओं का बहुत - बहुत आभार.

S.N SHUKLA said...

Madan Mohan Saxena ji,

आपके ब्लॉग पर आगमन और शुभकामनाओं का आभार.

S.N SHUKLA said...

Reva ji,
Kumar Vishal ji,
Roli Pathak ji,

स्नेह मिला , आभार आपके उत्साहवर्धन का.

Amrita Tanmay said...

क्या बात है..बहुत सुन्दर.

S.N SHUKLA said...

Amrita Tanmay ji,

रचना को साधुवाद देने के लिए धन्यवाद.

Udaya said...

प्यार में निछावर कर देना, किसी को जीवन समझ लेना जीवन को रंगीन और सार्थक बना देता है..सुन्दर भाव :)

S.N SHUKLA said...

Uday ji,

ब्लॉग पर आगमन और समर्थन का आभार.