About Me

My photo
Greater Noida/ Sitapur, uttar pradesh, India
Editor "LAUHSTAMBH" Published form NCR.

हमारे मित्रगण

विजेट आपके ब्लॉग पर

Monday, September 26, 2011

(102 ) कौन हूँ मैं ?

कौन हूँ मैं , जानता खुद भी नहीं, पर जानता हूँ ,
मैं जलधि के ज्वार सा, आवेग सा, आक्रोश सा हूँ /

मैं कृषक का, मैं श्रमिक का, मैं वणिक का, मैं लिपिक का ,
वृद्ध, बालक,  नारि - नर , तरुणाइयों का जोश सा हूँ  /

सूर्य का सा ताप हूँ मैं, धधकता ज्वालामुखी हूँ ,
मैं हलाहल , मैं गरल , जनवेदना का रोष सा हूँ /

मूक की आवाज हूँ मैं, आर्त की चीत्कार हूँ मैं,
जो गगन को भेद दे , उस घोष उस उद्घोष सा हूँ /

और अंतिम छोर वाले आदमी की वेदना का ,
क्रोध हूँ, आवेश हूँ, संवेदना का कोष सा हूँ  /

मैं विवादी हूँ, प्रलापक हूँ , ये हैं आरोप मुझ पर,
नाम कुछ भी दे कोई, कवि ह्रदय का आक्रोश सा हूँ /

15 comments:

प्रवीण पाण्डेय said...

न जाने कितना कुछ मुझमें, मैं न जाने कितनों में...

अनामिका की सदायें ...... said...

aapki rachnao se aapke shbd kosh ka sashakt bhandar dekhne ko milta hai.

prashansneey.

Sunil Kumar said...

नाम कुछ भी दें ............यह आक्रोश बना रहना चाहिए अच्छी रचना आभार

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

ऐसा आक्रोश होना भी चाहिए ..तभी लेखनी सार्थक होती है

रश्मि प्रभा... said...

तिम छोर वाले आदमी की वेदना का ,क्रोध हूँ, आवेश हूँ, संवेदना का कोष सा हूँ /
मैं विवादी हूँ, प्रलापक हूँ , ये हैं आरोप मुझ पर,नाम कुछ भी दे कोई, कवि ह्रदय का आक्रोश सा हूँ / sampoornta hun - kabhi is roop me, kabhi us roop me

Dr (Miss) Sharad Singh said...

यथार्थपरक रचना.... हार्दिक बधाई...

S.N SHUKLA said...

PRAVIN PANDEY JI,
Anamika ji,
Sunil kumar ji

bahut- bahut dhanyawaad aapake sneh kaa.

S.N SHUKLA said...

Sangita ji,
Rashmi ji,
Dr. Sharad ji

aapke nirantar protsaahan ka aabharee hoon, dhanyawad .

S.M.HABIB (Sanjay Mishra 'Habib') said...

मैं विवादी हूँ, प्रलापक हूँ , ये हैं आरोप मुझ पर,
नाम कुछ भी दे कोई, कवि ह्रदय का आक्रोश सा हूँ /

क्या खूब... बढ़िया रचना...
सादर...

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

आपकी इस उत्कृष्ट प्रविष्टी की चर्चा कल बुधवार के चर्चा मंच पर भी की गई है!
यदि किसी रचनाधर्मी की पोस्ट या उसके लिंक की चर्चा कहीं पर की जा रही होती है, तो उस पत्रिका के व्यवस्थापक का यह कर्तव्य होता है कि वो उसको इस बारे में सूचित कर दे। आपको यह सूचना केवल इसी उद्देश्य से दी जा रही है! अधिक से अधिक लोग आपके ब्लॉग पर पहुँचेंगे तो चर्चा मंच का भी प्रयास सफल होगा।

Rajendra Swarnkar : राजेन्द्र स्वर्णकार said...






आपको सपरिवार
नवरात्रि पर्व की बधाई और
शुभकामनाएं-मंगलकामनाएं !

-राजेन्द्र स्वर्णकार

Maheshwari kaneri said...

सार्थक विचार.. हार्दिक बधाई...

S.N SHUKLA said...

S.M.Habeeb ji,
Roop Chandra Shaastri ji,
Rajendra ji,
Maheshwari Kaneri ji

आपका हार्दिक आभार , स्नेह और समर्थन के लिए धन्यवाद .

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

आपकी इस उत्कृष्ट प्रविष्टी की चर्चा कल रविवार के चर्चा मंच पर भी की गई है! आपके ब्लॉग पर पहुँचेंगे तो
चर्चा मंच का भी प्रयास सफल होगा।

S.N SHUKLA said...

Dr.Shastri ji
charcha manch men sthaan dene ke liye aabhar.dhanywad.